Love Jihad : महाराष्ट्र में आफताब-रियाज तो इंदौर में अरबाज, कहीं देश में बढ़ तो नहीं रहा है लव-जिहाद

Love Jihad: Aftab-Riyaz in Maharashtra and Arbaaz in Indore, is love-jihad increasing in the country?

Love Jihad : आखिर हमारे देश में यह क्या हो रहा है। पहले श्रद्धा हत्याकांड (Shraddha Murder Case), फिर झारखंड राज्य के साहेबगंज में 22 वर्षीय पत्नी रुबिका पहाड़ी (Rubika Murder case) को कटर से बारह टुकड़ों में काट कर हत्या। रोंगटे खड़े कर देने वाले इस हत्याकांड की जांच फिलहाल जारी है। ऐसे में महाराष्ट्र के पनवेल में उमा वैष्णव हत्याकांड ने देश फिर से सनसनी मच गया है। ऐसी घटनाओं ने फिर से देश में लव-जिहाद के जुमले को चरितार्थ करने की कोशिश की है।

उमा वैष्णव हत्याकांड का खुलासा

महाराष्ट्र पुलिस ने पनवेल में पांच दिन पहले हुए उरवी उर्फ उमा वैष्णव हत्याकांड (urvi alias uma vaishnav murder case) का खुलासा कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने उरवी उर्फ उमा के लिव इन पार्टनर रियाज खान और उसके एक दोस्त को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपियों को अदालत में पेश कर पुलिस ने आगे की पूछताछ के लिए रिमांड की मांग की। दोनों आरोपियों को आठ दिन के लिए रिमांड में भेजा रिमांड की मांग पर अदालत ने दोनों आरोपियों को आठ दिन के लिए पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है। पनवेल के फ्लाईओवर उमा का शव बरामद करने के बाद पुलिस उसके चप्पलों के जरिए सुराग तलाशते आरोपियों तक पहुंची थी। अब पुलिस क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए आरोपियों से वारदात में निशानदेही कराएगी।

नए चप्पलों के जरिए पुलिस पहुंची आरोपी तक

Urvi alias UmaVaishnav Murder Case : पुलिस ने बताया कि उरवी उर्फ उमा वैष्णव का शव धामनी गांव के पास फ्लाईओवर पुल पर मिला था। जब पुलिस ने मामले की जांच शुरू की तो पता चला कि वह लिव इन में रहती थी और उसका पार्टनर था रियाज खान। वारदात से पहले उमा खरीदारी के लिए निकली थी। घटना के बाद उसके पैरों में मिले नए चप्पलों के जरिए पुलिस उस दुकान पर पहुंची। जब वहां लगे सीसीटीवी कैमरे की जांच पुलिस ने की तो पता चला के उमा के साथ एक युवक भी आया था। जिसकी पहचान रियाज खान के रूप में हुई। रियाज के साथ उमा कई साल से लिव इन में रह रही थी।

शादी के लिए दबाव बनाने पर की हत्या

लिव इन पार्टनर (Live in partner) आरोपी रियाज खान (Riyaz Khan) ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि उमा के बार में वह काम करता था और उसकी दोस्ती भी इस बार में ही हुई और बाद में वह लिव इन में रहने लगे। रियाज ने बताया कि उमा शादी के लिए दबाव बना रही थीए जबकि मैं बिना शादी के उसके साथ लिव इन में रहना चाहता था। उसने बताया कि इस बात को लेकर मेरे और उमा के बीच में तनाव बढ़ने लगा था। जब तनाव और ज्यादा बढ़ने लगा तो मैंने अपने दोस्त के साथ मिलकर उसका गला घोंट दिया और पुल के पास फेंक कर फरार हो गया।

पनवेल में ब्रिज पर शव मिला

भाई आरुष ने उमा के शव मिलने के बाद आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट लिखाई थी। पुलिस को आरुष ने ही बताया था कि उसकी बहन छह साल से मुंबई में रहती थी और वह यहां रियाज के साथ लिव इन में रहती थी। बताया कि रियाज ने ही उसकी बहन की हत्या कर शव को ब्रिज से लटका दिया है। बूंदी के बीबनवा रोड स्थित दयानंद कॉलोनी में उमा रहती थी। 14 दिसंबर को ही नेरूल पुलिस स्टेशन में आरुष ने गुमशदगी दर्ज कराई थी। वहीं पुलिस को 17 दिसंबर को पनवेल में ब्रिज पर शव मिला था।

मध्यप्रदेश के इंदौर की एक और घटना

Love Jihad in Madhya Pradesh : उमा हत्याकांड का मामला अभी चल ही रहा था कि मध्यप्रदेश के इंदौर की एक और घटना ने सभी को एक फिर लव-जिहाद मामले पर सोचने को मजबूर कर दिया। इंदौर शहर के रेसिडेंसी एरिया के ट्रैफिक पार्क में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने हिंदू युवती से छेड़छाड़ करते एक मुस्लिम युवक को पकड़ लिया। ऐसा आरोप है कि अरबाज खान ने अज्जू बनकर इंस्टाग्राम पर हिन्दू युवती से दोस्ती की फिर उसके साथ शारीरिक संबध बनाए। अरबाज खान पिता शाहिद खान निवासी कन्नौद जिला देवास का रहने वाला है जो वर्तमान में आजाद नगर में रहते हैं।

International Human Solidarity Day : भारत सक्षम है मानव-एकता को बल देने में

अरबाज नहीं अज्जू बन की दोस्ती

जब अरबाज यानी अज्जू को पकड़कर पूछताछ की गई तो उसने पहले अपना नाम अज्जू बताया। जब उससे उसका आधार कार्ड परिचय पत्र मांगा गया तो उसने यह कह कर टाल दिया कि मैंने अपना आधार कार्ड और परिचय पत्र अभी तक नहीं बनवाया है। जब बजरंग दल के लोगों ने उसके मोबाइल को चेक किया तो उसमें उसके बहुत से फोटो में मस्जिद दरगाह में नमाज पढ़ते हुए मिले। सख्ती से पूछताछ करने पर उसने बताया कि मैंने इस्ट्राग्राम पर अज्जू बनकर हिन्दू लड़की से दोस्ती की थी और उसे में हमेशा ट्रैफिक गार्डन में ही बुलाया करता था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.