अचार का सेवन प्रेग्नेंसी के दौरान फायदेमंद या नुकसानदेह, जानें?

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में कई हार्मोनल बदलाव होते हैं. जिसका सीधा असर उनके खान-पान से लेकर मूड पर पड़ता है. अक्सर महिलाओं को इस समय आचार जैसा कुछ खट्टा खाना सबसे ज्यादा पसंद होता है. पर क्या आप जानती हैं कि गर्भवती महिलाओं को इस समय आचार खाना भी चाहिए या नहीं. आइए जानते हैं अचार का सेवन करने से मां और पैदा होने वाले शिशु को किसी तरह का नुकसान पहुंच सकता है. प्रेग्नेंट महिला का मन जब किसी खास चीज को खाने का करता है तो उसे अंग्रेजी में क्रेविंग कहते हैं. इस समय उन्हें सबसे ज्यादा खट्टा या चटपटा खाने का मन करता है. प्रेग्नेंसी के दौरान यदि किसी महिला का मन अचार जैसी किसी खट्टी चीज को खाने का करता है तो उसे कुछ सावधानी जरूर बरतनी चाहिए.

प्रेग्नेंसी के दौरान अचार खाने के फायदे-

प्रतिरक्षा प्रणाली-गर्भवती महिलाओं को अचार का सेवन करते समय ध्यान रखना चाहिेए की वो इसका सेवन ज्यादा मात्रा में न करें. कच्चे आम, आंवला, गाजर के बने अचार में विटामिन्स, कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम और कई पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं. जो प्रेग्नेंट महिला की इम्युनिटी को मजबूत करने में उसकी मदद करते हैं.

पाचन क्रिया-अचार में अच्छे बैक्टीरिया मौजूद होते हैं, जो गर्भवती स्त्रियों की आंत में पहुंचकर गुड बैक्टीरिया को बढ़ाने में मदद करता है. जिससे उन्हें पाचन क्रिया से जुडी परेशानियों से मुक्ति मिलती है.

शरीर की जरुरत पूरी करता है-गर्भ में पल रहे शिशु के अच्छे विकास के साथ गर्भवती महिला की सेहत के लिए शरीर में पोटैशियम, सोडियम जैसे खनिज तत्वों का बैलेंस रहना बहुत जरुरी होता है. अचार का सेवन करने से बॉडी में खनिज तत्वों का बैलेंस बनाए रखने में मदद मिलती है.

अचार खाने के नुकसान-

ब्लड प्रैशर-अचार में सोडियम की मात्रा अधिक होने पर गर्भवती महिला को ब्लड प्रैशर की समस्या हो सकती है. जो मां के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के लिए भी नुकसानदायक हो सकती है.

डिहाइड्रेशन-अचार में सोडियम की मात्रा अधिक होने की वजह से गर्भवती महिला को डिहाइड्रेशन की परेशानी हो सकती है. शरीर में पानी की कमी का असर गर्भवती महिला के स्वास्थ्य के साथ गर्भ में पल रहे शिशु पर भी पड़ सकता है.

एसिडिटी-अचार का अधिक सेवन करने पर गर्भवती महिला को एसिडिटी, सीने में जलन जैसी परेशानियां भी झेलनी पड़ सकती हैं.

सूजन-शरीर में पानी की कमी की वजह से गर्भवती स्त्री को बॉडी में सूजन की समस्या भी हो सकती है. दरअसल अचार का अधिक सेवन करने पर बॉडी में सोडियम की मात्रा अधिक होने लगती है जिससे गर्भवती महिला को शरीर में सूजन महसूस होने लगती है.

रखें इन बातों का ध्यान रखे-

-प्रेग्नेंट महिलाओं को डिहाइड्रेशन से बचने के लिए अचार का सेवन करने के साथ पानी का सेवन भी भरपूर मात्रा में करना चाहिए.

– बाजार के अचार की जगह गर्भवती महिलाओं को घर में बने ताजे अचार का सेवन करना चाहिए.

-जिन प्रेग्नेंट महिलाओं को गैस की समस्या अधिक रहती है उन्हें अचार का सेवन से परहेज रखना चाहिए.

-अचार खाने के कारण यदि आपको किसी तरह की एलर्जी या गले से सम्बंधित समस्या हो जाती है तो भी अचार के सेवन से परहेज करना चाहिए

Add Comment

Click here to post a comment