Browsing Tag

Why defend the sad and tragic comment?

दुखद एवं त्रासद टिप्पणी का बचाव क्यों?

 -ललित गर्ग- नया भारत-सशक्त भारत को निर्मित करते हुए आज भी स्त्रियों के प्रति प्रदूषित एवं अश्लील दृष्टिकोण का कायम रहना, परेशान करता है। विडम्बना तो यह है कि इस तरह का अनैतिक, अमर्यादित एवं अश्लील दृष्टिकोण आम आदमी का नहीं बल्कि देश के…
Read More...